Online शिक्षण विधि

Online Classes का तरीका

1. सबसे पहले पाठ्यक्रम में निर्धारित टॉपिक $ पिछली परीक्षाओं के प्रश्नपत्र का विश्लेषण होगा।
2. पढ़ाने की विषय-वस्तु-परीक्षा के पाठ्यक्रम एवं माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की पुस्तकों पर आधारित होगी। पिछली रीट
के प्रश्न भी तो वहीं से आए हैं। अधिकतर प्रश्न परिष्कार की क्लासेज और नोट्स से आए हैं।
3. Online लेक्चर सुनते समय वीडियो लेक्चर की हार्डकॉपी अर्थात् ‘लेक्चर नोट्स’ प्रत्येक विद्यार्थी के हाथ में होते
हैं ताकि लेक्चर सुनते समय कम-से-कम नोट करना पड़े और सभी महŸवपूर्ण प्रश्न ‘लेक्चर नोट्स’ में आ जाएँ।
4. परिष्कार के विस्तृत नोट्स अलग से दिए जाएँगे जिनमें प्रत्येक विषय के टैस्ट पेपर भी शामिल होंगे।
5. टॉपिक पूरा होने के बाद पिछली परीक्षाओं के प्रश्न-पत्र विद्यार्थी से ही सोल्व करवाए जाएँगे।
6. हर टॉपिक पर अभ्यास प्रश्न अलग से दिए जाएँगे जिनको विद्यार्थी घर से करके लाएँगे और अगले दिन के Online
लेक्चर में उन्हें सोल्व करवाया जाएगा।
7. हर सब्जेक्ट के Offline टैस्ट भी होंगे जो फ्रेंचाइजी सेंटर आपको देंगे और उनका Online हल करवाया जाएगा।
8. पिछली रीट की क्लासों का यह अनुभव रहा है कि परिष्कार के लेक्चर्स इतने विस्तृत हैं और हर छोटी-छोटी बात
को इतना स्पष्ट करनेवाले रहे हैं कि विद्यार्थी के मन में शायद ही कोई शंका रहती है। फिर भी विद्यार्थी परिष्कार से
Online प्रश्न पूछ सकेंगे और उसका उत्तर संबंधित शिक्षक द्वारा ऑनलाइन दिया जाएगा।
9. परिष्कार की Online टैस्ट सिरीज फ्रेंचाइजी सेंटरों के विद्यार्थियों को फ्री में मिलेंगी। अन्य विद्यार्थियों को टैस्ट
सिरीज इस बार निःशुल्क दी गई थी किन्तु अब वह शुल्क देने पर ही टैस्ट सिरीज प्राप्त कर सकेंगे।